Love Shayari

Ads

Jan 6, 2019

Bhagwan Ki Shayari | भगवान् की शायरी |

Hello dosto aaj hum aapke liye bhagwan ki shayari laye hai ,Iss duniya me do tarah ke log rahte hai ek jo bhagwan par vishwash karte hai aur dusre jo bhagwan par vishwash nhi karte..Dosto aap kish category  me aate ho comment jaroor karen...Thanks 

Bhagwan Ki Shayari 

Bhagwan Ki Shayari | भगवान् की शायरी |
Jo paya vo sath rahega
Bhram hai iss insaan ka 
Kuch nhi mera kuch nhi tera 
Sab kuch hai Bhagwan ka 
जो पाया वो साथ रहेगा
भ्रम है इस इंसान का
कुछ नही मेरा कुछ नही तेरा
सब कुछ है भगवन का
                                                       
Bhagwan Ki Shayari | भगवान् की शायरी |
Jo karde murjhit
Vo danush se nikla hua kaman hota hai 
Aur musibat me jo madad kare
Dosto vo Bhagwan ke saman hota hai
 जो करदे मुर्झित
वो दानुष से निकला हुआ
कमान होता है
और मुसीबत में जो मदद करे
दोस्तों वो भगवन के सामान होता है


                                                           
Bhagwan Ki Shayari | भगवान् की शायरी |
Badlaw kudrat ka niyam hai 
Jo hum chahe ya na chahe
Hume manna padega 
बदलाव कुदरत का नियम है
जो हम चाहे या न चाहे
हमें मानना पड़ेगा
                                                       
Bhagwan Ki Shayari | भगवान् की शायरी |
Parinde ko aasman pyara hai
Murde ko shmshan pyara hai
Jo har na mane marne tak 
Khuda ko wahi insaan pyara hai 
परिंदे को आसमान प्यारा है
मुर्दे को श्मशान प्यारा है
जो हर न माने मरने तक
खुदा को वही इंसान प्यारा है
                                              
Bhagwan Ki Shayari | भगवान् की शायरी |
Bhagwan bhajan ke alava 
Sansaar me sab moh-maya hai 
Karlo chintan waqt mila 
Kyoki amar nahi ye kaya hai 
भगवन भजन के अलावा
संसार में सब मोह-माया है
करलो चिंतन वक़्त मिला
क्योंकि अमर नहीं ये काया है
  
Read More Interesting Shayari 👉 Paisa Shayari

Chahe mandiro ke chakkar laga lena 
Chahe babayo ke samne matha tek lena 
Jab tak tum apne hraday me sradda 
Aur vinammarta nhi layoge
Tab tak Bhagwan to kya 
Tumhe sacche insaan bhi nhi mil sakte
 चाहे मंदिरो के चक्कर लगा लेना
चाहे बाबाओं के सामने माथा टेक लेना
जब तक तुम अपने हृदय में श्रद्दा
 और विनम्रता नहीं लाओगे
तब तक भगवन तो क्या
तुम्हे सच्चे इंसान भी नहीं मिल सकते
Bhagwan Ki Shayari | भगवान् की शायरी |
Kya karoge aise 
Sohrat ,paise ,bade naam ka
Agar manan hi na ho juban par
Maa Sita ke prabhu shree Ram ka  
क्या करोगे ऐसे
सोहरत ,पैसे ,बड़े नाम का
अगर मनन ही न हो जुबान पर
माँ सीता के प्रभु श्री राम का 
                                                             
Bhagwan Ki Shayari | भगवान् की शायरी |
Sabah aur shaam 
Lo sirf prabhu ka naam 
Banege sabhi bigade kaam 
Aur prapt hoga moksh dhaam 
सबह और शाम
लो सिर्फ प्रभु का नाम
बनेगे सभी बिगड़े काम
और प्राप्त होगा मोक्ष धाम

                                                         
Bhagwan Ki Shayari | भगवान् की शायरी |
Sadharan manushya jab khudko
Bhagwan samajhne lagta hai
Insaan ko fir vo insaan nhi samajhta hai 
साधारण मनुष्य जब खुदको
भगवन समझने लगता है
इंसान को फिर वो इंसान नही समझता है



God Bless You Friends For Reading Bhagwan ki shayari 


No comments:
Write Comments

Books

Powered by Blogger.