Love Shayari

Ads

Jan 21, 2019

Adult Shayari वयस्क शायरी..........!

Aaj-kal log jyadatar Adult Shayari bhi padte hai,issi ko dekhte huye kuch Adult Shayari prastut ki jaa rhi hai aap sabhi ke liye.Thanks

 Adult Shayari

Adult Shayari  वयस्क शायरी.....
Aaj-kal log dil nhi pyar bhi 
Zism dekhkar hi karte hai
आज-कल लोग दिल नही प्यार भी
ज़िस्म देखकर ही करते है
                                                                         
Adult Shayari  वयस्क शायरी.....
Zism vo mohra hai jiske jariye
Do ruho ke beech me milan hota hai 
ज़िस्म वो मोहरा है जिसके जरिये
दो रूहों के बीच में मिलन होता है
                                                 
Adult Shayari  वयस्क शायरी.....
Tamanna nhi zism ki kyoki hawash 
Ka me pujaari nhi chahta kuch karna
To kar leta kab ka 
Kya tere sath maine ratein gujari nhi 
तमन्ना नहीं जिस्म की क्योकि हवश
का में पुजारी नही चाहता कुछ करना
तो कर लेता कब का
क्या तेरे साथ मैंने रातें गुजारी नहीं
                                                            
Adult Shayari  वयस्क शायरी.....
Aasman me chand ko dekhkar
Humara chand bhi sharma gaya
Jaise hi vo mahfil me aai
Pura mahol hi garma gaya 
आसमान में चांद को देखकर
हमारा चाँद भी शरमा गया
जैसे ही वो महफ़िल में आई
पूरा माहौल ही गरमा गया
                                                                  
Adult Shayari  वयस्क शायरी.....
Tere husn ke aage
Chand ki chamak bhi fiki lagti hai
Jab chalti hai tu dharti par
To pariyo jaisi dikhti hai 
तेरे हुस्न के आगे
चाँद की चमक भी फीकी लगती है
जब चलती है तू धरती पर
तो परियो जैसी दिखती है
                                                              
Adult Shayari  वयस्क शायरी.....
Iss jaalim duniya me 
Ab mohabbat ki kimat lagne lagi
Guno par koi dyan nhi deta
Husn ko dekhkar logo ki
Niyat fisalne lagi 
इस जालिम दुनिया में
अब मोहब्बत की कीमत लगने लगी
गुणों पर कोई ध्यान नहीं देता
हुस्न को देखकर लोगो की
नियत फिसलने लगी
                                                                
Adult Shayari  वयस्क शायरी.....
Chahte to hai log mohabbat
Ruh se karna
Par zism ki sugand unhe apni
Taraf kheench hi leti hai 
चाहते तो है लोग मोहब्बत
रूह से करना
पर जिस्म की सुगंद उन्हें अपनी
तरफ खींच ही लेती है
                                                             
Adult Shayari  वयस्क शायरी.....
Mauko ka fayda udana to
Bachpan me hi sikh liya
Lekin kishi ki kamjori ka fayda
Udana abhi tak na sikh sake 
मौकों का फायदा उडाना तो
बचपन में ही सीख लिया
लेकिन किसी की कमजोरी का फायदा
उड़ाना अभी तक ना सिख सके
                                                          
Adult Shayari  वयस्क शायरी.....
Tu apne ko badal le
Jamana badal jayega
Tere dekhne ka nazariya
Aur pemana badal jayega 
तू अपने को बदल ले
जमाना बदल जायेगा
तेरे देखने का नजरिया
और पैमाना बदल जायेगा

End......Of.......Adult Shayari

No comments:
Write Comments

Books

Powered by Blogger.