Love Shayari

Ads

Jan 18, 2019

Achi Shayari | अच्छी शायरी

Hello dosto ye kuch achi shayari hai aapke liye jo shayad aapko kaafi pasand aayengi.Thanks

 Achi shayari

Achi Shayari | अच्छी शायरी
Jo hansate the hum par
Vo hansate hi rah gaye
Hum itna aage kaise bad gaye
Vo samajhte hi rah gaye
जो हंसते थे हम पर
वो हंसते ही रह गए
हम इतना आगे
कैसे बढ़ गए
वो समझते ही रह गए
                                                          
Achi Shayari | अच्छी शायरी
Diye ko dekhta hoon
To jyoti ki yaad aa jati hai
Bina tel ke baati 
Asmarth hi nazar aati hai
दिए को देखता हूँ
तो ज्योति की याद आ जाती है
बिना तेल के बा
ती
असमर्थ ही नज़र आती है
                                                        
Achi Shayari | अच्छी शायरी
Bachpan nikla padai me
Jawani nikali kamai me
Aankh khuli to dekha ki
Budapa bhi hai rajai me
बचपन निकला पढ़ाई में
जवानी निकली कमाई में
आँख खुली तो देखा की
बुढ़ापा भी है रजाई में
                                                         
Achi Shayari | अच्छी शायरी
Yaad aaye kabhi humari
To photo nihaar lena
Muskurate hi humare tum
Julfe sawar lena
याद आये कभी हमारी
तो फोटो निहार लेना
मुस्कुराते ही हमारे तुम
जुल्फे सवार लेना
                                                 
Achi Shayari | अच्छी शायरी
Gunaah koi aur karta hai
Aur sikaar ye bacchiyan ban jaati hai
Kya kusoor hai inka
Jo ye chain se nhi ji paati hai
गुनाह कोई और करता है
और सिकार ये बच्चियां बन जाती है
क्या कसूर है इनका
जो ये चैन से नहीं जी पाती है
                                                       
Achi Shayari | अच्छी शायरी
Tum ho humare 
Iska ek baar ehsaas to dilaya hota
Bulana hi tha to pyar se bulaya hota
तुम हो हमारे
इसका एक बार एहसास तो दि
लाया होता
बुलाना ही था तो प्यार से बुलाया होता
                                                                     
Achi Shayari | अच्छी शायरी
Ahsaano tale agar me na
Daba hota
To dosto kabhi bhi iss
Halat me na hota
अहसानों तले अगर में ना
दबा होता
तो दोस्तों कभी भी इस
हालात में ना होता
                                                              
Achi Shayari | अच्छी शायरी
Na dikhabe ke liye padho
Na dikhabe par maro
Kaam ko apna shauk banake
Bas shauk ko follow karo
ना दिखाबे के लिए पढोना दिखाबे पर मरो
काम को अपना शौक ब
नाके
बस शौक को फॉलो करो
                                                     
Achi Shayari | अच्छी शायरी
Vo bachpan ki yaade vo pita ki gaud
Vo mata ka aanchal aur vo humari 
Badi soch
Ab bilupt si nazar aati hai 
वो बचपन की यादें वो पिता की गोद
वो माता का आँचल और वो हमारी
बड़ी सोच
अब बिलुप्त सी नज़र आती है
                                                       
Thanks for reading Achi Shayari..........

No comments:
Write Comments

Books

Powered by Blogger.