Love Shayari

Ads

Jan 13, 2019

Bewafa Shayari | बेवफा शायरी

Mohabbat karna to bahut aasan hota hai dosto lekin jab mohabbat me dokha milta hai to usse har koi jhel nhi pata,bahut hi kam log hote hai jo usse jhel pate hai.Bewafa shayari me aapko aisi hi kuch shayari padhne ko milengi. Thanks

 Bewafa Shayari

 
Bewafa Shayari | बेवफा शायरी

Vo mujh par nhi 
Mere apise par marti thi
Itni khudgarj thi 
Ki mohabbat karne ka bhi 
Natak karti thi 
वो मुझ पर नही
मेरे पैसे पर मरती थी
इतनी खुदगर्ज़ थी
की मोहब्बत करने का भी
नाटक करती थी
                                                                
Bewafa Shayari | बेवफा शायरी
Agar shak ho kabhi tumhe mere pyar par
To chhaud ke chali jana
Fir mere jakhmo ko kuredne
Kabhi meri zindagi me wapas mat aana 
अगर शक हो कभी तुम्हे मेरे प्यार पर
तो छोड़ के चली जाना
फिर मेरे जख्मों को कुरेदने
कभी मेरी ज़िंदगी में वापस मत आना
                                                        
Bewafa Shayari | बेवफा शायरी
Na vo ladki thi jyada khaas 
Na hume thi uski aash
Dhudne agar nikle 
To mil jayengi uss jaisi pachass
ना वो लड़की थी ज्यादा खास
ना हमे थी उसकी
ढूढ़ने अगर निकले
तो मिल जाएँगी उस जैसी पचास
                                           
Bewafa Shayari | बेवफा शायरी
Ruk jati hai meri saanse
Jab tu saath nhi hoti
Kambkhat aaj-kal tere bina
Meri raat bhi nhi hoti 
रुक जाती है मेरी साँसे
जब तू साथ नहीं होती
कमब्खत आज-कल तेरे बिना
मेरी रात भी नहीं होती
                                                        
Bewafa Shayari | बेवफा शायरी
Jo ugenge mere viruddh
Aise beej me tujhe bone nhi dunga
Kasam hai khuda ki
Agar tu meri nhi huyi
To kishi aur ki me tujhe hone nhi dunga
जो उगेंगे मेरे विरुद्ध
ऐसे बीज में तुझे बोन नहीं दूंगा
कसम है खुदा की
अगर तू मेरी नही हुयी
तो किसी और की में तुझे होने नही दूँगा
                                                          
Bewafa Shayari | बेवफा शायरी
Baar-baar meri zindagi me aake
Kyoon tum mujhe barbaad karna chahte ho
Pyar nhi karti me tumse
Kyoon tum ye samajh nhi paate ho
बार-बार मेरी ज़िन्दगी में आके
क्यूँ तुम मुझे बर्बाद करना चाहते हो
प्यार नही करती में तुमसे
क्यूँ तुम ये समझ नही पाते हो
                                                               
Bewafa Shayari | बेवफा शायरी
Mera pyar meri jaan hai
Mere dil ka abhimaan hai
Kaise bhuladu isko me
Jab mera jivan hi iske naam hai
मेरा प्यार मेरी जान है
मेरे दिल का अभिमान है
कैसे भुलादु इस्को में
जब मेरा जीवन ही इसके नाम है 
                                                      
Bewafa Shayari | बेवफा शायरी
Na jati vo chhaudkar mujhe to shayad 
Marham aur patti
Ki kabhi jaroorat hi nhi padti
ना जाती वो छोड़कर मुझे तो शायद
मरहम और पट्टी
की कभी जरूरत ही नही पड़ती
                                                            
Bewafa Shayari | बेवफा शायरी
Kabhi bhulake apne sapno ko
Humara bhi khyal karo
Kaise ji rhe honge tumhare bina
Kabhi khud se ye sawal karo
कभी भुलाके अपने सपनो को
हमारा भी ख्याल करो
कैसे जी रहे होंगे तुम्हारे बिना
कभी खुद से ये सवाल करो

End...Of ......Bewafa Shayari

No comments:
Write Comments

Books

Powered by Blogger.