Love Shayari

Ads

Jan 22, 2019

Naam Shayari | पहचान शायरी........

Hello friends these are some Naam Shayari पहचान शायरी for you.I hope you will enjoy them .Thanks

Naam Shayari

Naam Shayari | पहचान शायरी.
Apne jivan me kuch karna aisa
Jisse chahe duniya banna tumhare jaisa 
अपने जीवन में कुछ करना ऐसा
जिससे चाहे दुनिया बनना तुम्हारे जैसा
                                                               
Naam Shayari | पहचान शायरी.
De-de ke izzat samman
Badana padta hai
Pahchan banane se kuch nhi hota
Naam banana padta hai 
दे-दे के इज़्ज़त सम्मान
बढ़ाना पड़ता है
पहचान बनाने से कुछ नही होता
नाम बनाना पड़ता है
                                                        
Naam Shayari | पहचान शायरी.
Itihaas ke panno me sunhare aksharo se
Apna naam me likhwa ke dikhaunga
Aane wali pidi ke liye bahut bada udaharan
Bankar me iss duniya se jaunga
इतिहास के पन्नों में सुनहरे अक्षरों से
अपना नाम में लिखवा के दिखाऊंगा
आने वाली पीढ़ी के लिए बहुत बड़ा उदाहरण
बनकर में इस दुनिया से जाऊंगा
                                               
Naam Shayari | पहचान शायरी.
Chhapega jish din hunar humara
Akhbaar kam pad jayenge
Famous itne honge ki
Charo taraf sirf hum hi nazar aayenge
छपेगा जिस दिन हुनर हमारा
अखबार कम पड़ जायेंगे
फेमस इतने होंगे की
चारो तरफ सिर्फ हम ही नज़र आएंगे
                                                                
Naam Shayari | पहचान शायरी.
Apne vyaktitv ko itna mahaan banayo
Ki jish din tumhari maut ho
Uss din char nhi char lakh kande
Tumhe udane ke liye maujood ho
अपने व्यक्तित्व को इतना महान बनाओ
की जिस दिन तुम्हारी मौत हो
उस दिन चार नहीं चार लाख कंधे
तुम्हे उठाने के लिए मौजूद हो
                                                             
Naam Shayari | पहचान शायरी.
Chamkegi jish din kismat
Uss din chand bhi 
Fika nazar aayega humari safalta ka 
Lupt ye pura jahan udayega
चमकेगी जिस दिन किस्मत
उस दिन चाँद भी
फीका नज़र आएगा हमारी सफलता का
लुप्त ये पूरा जहाँ उठाएगा
                                                                   
Naam Shayari | पहचान शायरी.
Agar batana ho ahsaan
To kaam mat karna
Aur karo to pura
Varna naam mat karna
अगर बताना हो अहसान
तो काम मत करना
और करो तो पूरा
वरना नाम मत करना
                                                                 
Naam Shayari | पहचान शायरी.
Dhoop me pasina bahana padta hai
Har muskil kaam karke dikhana padta hai
Logo ki iss bheed se bahar nikalkar
Din-raat kaam karke naam banana padta hai
धूप में पसीना बहाना पड़ता है
हर मुश्किल काम करके दिखाना पड़ता है
लोगो की इस भीड़ से बाहर निकलकर
दिन-रात काम करके नाम बनाना पड़ता है
                                                               
Naam Shayari | पहचान शायरी.
Koi shaam aisi bhi aayegi
Jo naam se humare rang di jayegi
कोई शाम ऐसी भी आएगी
जो नाम से हमारे रंग दी जाएगी

Thanks for reading पहचान शायरी........

No comments:
Write Comments

Books

Powered by Blogger.