Love Shayari

Ads

Jan 20, 2019

Shandar Shayari | शानदार शायरी

Ye kuch behatrin aur shandar shayari hai aap sabhi ke liye, jo shayad aapko kaafi pasand aayengi.Thanks 

shandar shayari

Shandar Shayari | शानदार शायरी
Bure hai ye kabool karte hai
Lekin itne bhi nhi 
Jitna ye log samajhte hai 
बुरे है ये कबूल करते है
लेकिन इतने भी नहीं
जितना ये लोग समझते है
                                            
Shandar Shayari | शानदार शायरी
Musibat se lad-lad ke
Unhe jhelna sikh liya
Maine logo ke dilo nhi
Dimaag se khelna sikh liya 
मुसीबत से लड़-लड़ के
उन्हें झेलना सीख लिया
मैंने लोगो के दिलो नहीं
दिमाग से खेलना सीख लिया
                                                           
Shandar Shayari | शानदार शायरी
Chintaye rone se nhi pareshaniyon 
Ka chintan karne se dur hoti hai 
चिंताए रोने से नहीं परेशानियों
का चिंतन करने से दूर होती है
                                                                  
Shandar Shayari | शानदार शायरी
Ladai me utarne ke liye Jigar
Aur ladki patane ke liye
Figar accha hona chahiye
लड़ाई में उतरने के लिए जिगर
और लड़की पटाने के लिए
फिगर अच्छा होना चाहिए
                                                             
Shandar Shayari | शानदार शायरी
Sambhal ke rakhna iss dil ko
Kyoki todne wale hazaar milenge
Beech chaurahe par boli lagegi Aur
Bikne ke liye kai bazaar milenge 
संभाल के रखना इस दिल को
क्योकि तोड़ने वाले हज़ार मिलेंगे
बीच चौराहे पर बोली लगेगी और
बिकने के लिए कई बाजार मिलेंगे
                                                          
Shandar Shayari | शानदार शायरी
Peeche se main kishi par war nhi karta
Jab nihattha hp dushman to hathiyar nhi pakadta
Bahaduro ki tarah jine ka shauk hai mujhe
Isliye kayro ki tarah main vyavhar nhi karta 
पीछे से मैं किसी पर वार नहीं करता
जब निहत्था
हो दुश्मन तो हथियार नहीं पकड़ता
बहादुरों की तरह जीने का शौक है मुझे
इसलिए कायरो की तरह मैं व्यवहार नहीं करता
                                                                  
Shandar Shayari | शानदार शायरी
Andhere me jalne wale chirag
Ujale me apna astitv nhi chhaudte
Duniya sirf unhi logo ko yaad rakhti hai
Jo apna vastvik vyaktitv nhi chhaudte
अँधेरे में जलने वाले चिराग
उजाले में अपना अस्तित्व नही छोड़ते
दुनिया सिर्फ उन्हीं लोगो को याद रखती है
जो अपना वास्तविक व्यक्तित्व नहीं छोड़ते
                                                             
Shandar Shayari | शानदार शायरी
Darta nhi hoon kishi ke baap se
Kaam rakhta hoon apne aap se
Lafango ki zindagi mujhe pasand nhi
Isliye mooh nhi lagata main sharab se
डरता नहीं हूँ किसी के बाप से
काम रखता हूँ अपने आप से
लफंगों की ज़िन्दगी मुझे पसंद नहीं
इसलिए
मुहं नही लगाता मैं शराब से
                                                              
Shandar Shayari | शानदार शायरी
Maana ki main kishi ka
Humdard nhi hoon
Par sach kahta hoon ki main 
Khudgarj nhi hoon
माना कि मैं किसी का
हमदर्द नही हूँ
पर सच कहता हूँ की मैं
खुदगर्ज नहीं हूँ

Thanks For Reading Shandar Shayari

No comments:
Write Comments

Books

Powered by Blogger.